छपरा: मुस्लिम बहुल इलाकों में टीकाकरण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए पहुंचे सिविल सर्जन

0
  • टीकाकरण के प्रति फैली भ्रांतियों को किया दूर
  • टीकाकरण के लिए जिले में चलाया जा रहा है व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान
  • टीकाकरण अभियान में बाधक बन रही है भ्रांतियां

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से सुरक्षा प्रदान करने के लिए जिले में कोविड टीकाकरण अभियान पूरे जोर-शोर से चलाया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 करण के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने के लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। इस जागरूकता अभियान में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करते हुए सारण के सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार जिले के नगरा प्रखंड के कादीपुर मुस्लिम इलाके में पहुंचे। जहां पर मुस्लिम समुदाय के लोगों से बात कर कोविड टीकाकरण के लिए जागरूक किया। सिविल सर्जन ने बताया कि कोविड टीका के प्रति अभी भी लोगों में तरह-तरह की भ्रांतियां हैं। जिन क्षेत्रों में टीकाकरण के प्रति काफी जागरूकता की कमी है उन क्षेत्रों को चिन्हित कर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में अंतर विभागीय समन्वय स्थापित कर कार्य किया जा रहा है। लोगों से बात करते हुए सिविल सर्जन ने डॉ जेपी सुकुमार ने कहा कि कोरोनावायरस से सुरक्षा के लिए टीकाकरण कराना अतिआवश्यक है। इससे बचाव का एकमात्र उपाय टीकाकरण ही है। सिविल सर्जन ने कहा कि अफवाहों पर ध्यान ना दें, स्वास्थ्य कर्मियों की बातों को अमल करें और अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जाकर टीकाकरण कराएं और इस अभियान में अपनी सहभागिता को सुनिश्चित कर समाज और गांव के लोगों को सुरक्षा प्रदान करने में अपना बहुमूल्य योगदान दें। इस दौरान उनके साथ जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार शर्मा नगरा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

civil serjan

टीकाकरण के बाद हो सकता है बुखार

सिविल सर्जन ने बताया कि कोविड-19 का टीका पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है। उन्होंने कहा कि टीका लेने के बाद हल्का बुखार या दर्द हो सकता है यह टीका का दुष्प्रभाव नहीं बल्कि सकारात्मक प्रभाव है। इससे डरने की जरूरत नहीं है, अगर बुखार होता है तो पेरासिटामोल टेबलेट का इस्तेमाल किया जा सकता है। सिविल सर्जन ने बताया कि वह भी टीकाकरण टीम में शामिल कर्मियों को निर्देश दिया गया है कि लाभार्थियों को टीका देने के बाद पेरासिटामोल भी देना सुनिश्चित करें। ताकि किसी को बुखार हो तो वह दवा का इस्तेमाल कर सके।

संध्या चौपाल लगाकर किया जा रहा है जागरूक

सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने बताया कि जिले में बूथ स्तर पर कोविड टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है और संध्या चौपाल का आयोजन कर टीकाकरण के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर किया जा रहा है तथा टीकाकरण केंद्र की सूचना दी जा रही है। सिविल सर्जन ने बताया कि जागरूकता अभियान में जिले के हर तबके के लोगों को शामिल किया गया है। इस अभियान में जिले के शिक्षक, धर्मगुरु, सहयोगी संस्थाओं के जनप्रतिनिधि, पंचायत प्रतिनिधि, विकास मित्र, टोला सेवक, पंचायत सेवक को शामिल किया गया है। जो ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करने का कार्य कर रहे हैं। सिविल सर्जन ने बताया कि अब तक जिले में पांच लाख से अधिक लोगों को टीका दिया जा चुका है। जिले में 30 लाख लोगों को टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करने के लिए रणनीति बनाकर कार्य किया जा रहा है।