छपरा: ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन के सफल क्रियान्वयन को लेकर होगा ड्राई रन

0
  • राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी ने दिया निर्देश
  • दूर दराज सुदूर क्षेत्रों के मरीजों को मिलेगी विशेषज्ञ चिकित्सकों की सुविधा
  • स्वास्थ्य विशेषज्ञों से मरीज टेलीफोन पर देंगे चिकित्सकीय सलाह

छपरा: दूर दराज के ग्रामीण सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को भी अब बेहतर व विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा इलाज की सुविधा उपलब्ध होगी। इसके लिए सरकार द्वारा जिले के स्वास्थ संस्थानों में हब एंड स्कोप प्रणाली से टेलीमेडिसिन की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। स्वास्थ्य व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के तहत टेलीमेडिसिन की सुविधा शुरू की जाएगी। इसके सफल क्रियान्वयन को लेकर गुरूवार यानि 28 जनवरी को 11 बजे से 2 बजे तक ड्राई रन का आयोजन किया जायेगा। इसको लेकर राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. एके शाही ने पत्र लिखकर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किया गया। पत्र के माध्यम से बताया गया है कि ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन के माध्यम से स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर रोगियों को टेलीमेडिसिन की सुविधा उपलब्ध कराए जाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए प्रथम चरण में चिन्हित उपकेंद्रों को स्पोक्स के रूप में एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल एवं अनुमंडलीय अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारियों को हब के रूप में चिन्हित किया गया है। इस प्रणाली पर संबंधित एएनएम एवं चिकित्सा पदाधिकारियों को का प्रशिक्षण डेमो ऐप पर कराया गया है। ड्राई रन को सफल बनाने के लिए सभी संबंधित पदाधिकारियो को निर्देश दिया गया दिए गए हैं है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

हब एंड स्पोक प्रणाली से काम करेगी टेली मेडिसिन सुविधा:

ई संजीवनी टेलीमेडिसिन के क्रियान्वयन के तहत हब एवं स्पोक प्रणाली के रूप में कार्यरत होगा । जिसमें मरीज पहले एएनएम के पास कॉल करेंगे। फिर एएनएम मरीज का सभी जानकारी लेकर उसे डॉक्टर के पास फारर्वड करेंगी। जिसमें पाली बार विशेषज्ञ चिकित्सक टेलीमेडिसिन के माध्यम से मरीजों को सलाह देने के लिए उपलब्ध होंगे।

सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों को मिलेगी सुविधाएं:

सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सकों की उपलब्धता नहीं होने से मरीजों को परेशानी होती है। ऐसे मरीजों को चिकित्सीय सुविधा देने के किए स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में यह एक ऐसी सुविधा है, जिसमें सूचना प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करके सुदूर ग्रामीण और दूरदराज के इलाकों में स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाई जा सकती है। इसके तहत चिकित्सकीय शिक्षा, प्रशिक्षण और इसका प्रबंधन तक शामिल हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों से मरीज टेलीफोन पर ही चिकित्सा से संबंधित परामर्श प्राप्त कर सकते हैं। इलेक्ट्रॉनिक तरीके से मरीज चिकित्सकीय जानकारी भेज सकते हैं और वीडियो कॉन्फ्रें सिंग के साथ हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर की मदद से रियल टाइम परिस्थितियों में सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

इन प्रखंडों में शुरू होगी ई संजीवनी टेलीमेडिसिन:

  • सदर प्रखंड
  • मांझी
  • मशरक
  • मढौरा
  • जलालपुर
  • गड़खा
  • दरियापुर
  • अमनौर
  • बनियापुर