छपरा: बुजुर्ग नागरिकों में कोविड संक्रमण के जोखिम की संभावना अधिक

0
  • गंभीर रोगों से ग्रसित उम्रदराज लोगों का रखना है विशेष ख्याल
  • घर में ही रहें, बाहर जाने से बचें, लोगों से मिलने से करें परहेज

छपरा: कोविड 19 की दूसरी लहर चरम पर है. ऐसे समय में सभी लोगों को सुरक्षा के सभी पैमानों का पालन करते हुए सर्तक रहना है और अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना है. विशेषकर कोविड संक्रमण का सबसे अधिक जोखिम उम्रदराज लोगों को होता है. इसे देखते हुए उनकी सुरक्षा जरूरी है. इसको लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा एम्स दिल्ली के जियाट्रिक मेडिसिन विभाग दवारा एडवाइजरी जारी की गयी है. जारी एडवाइजरी में बताया गया है कि उम्रदराज लोगों में कोविड 19 संक्रमण का जोखिम अधिक है. साथ ही कोरोना संक्रमण के मद्देनजर वरिष्ठ नागरिकों व उनके देखभाल में लगे लोगों को इस दौरान क्या करना चाहिए एवं क्या नहीं करना चाहिए, इसके विषय में भी आवश्यक रूप से जानकारी दी गयी है. एडवाइजरी में कहा गया है कि 60 साल या इससे अधिक उम्र के बुजुर्ग लोग कोविड संक्रमण के जोखिम का सामना सबसे अधिक कर रहे हैं. उम्रदराज लोग जिन्हें अस्थमा, गंभीर श्वसन रोग, ब्रोंकाइटिस, फेफड़ों से जुड़े रोग जैसे टीबी, दिल की बीमारी, किडनी व लीवर की समस्या जैसे हेपेटाइटिस, तथा पार्किंसन, मधुमेह, हाइपरटेंशन व कैंसर आदि से जूझ रहे हों, उन्हें विशेष तौर पर खुद को सुरक्षित रखने के लिए कहा गया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

इन बातों के पालन करने को लेकर खास सलाह

बुजुर्ग लोगों से कहा गया है कि वह अपना अधिकांश समय घरों में ही बितायें. बाहर से मिलने के लिए आने वाले मेहमानों या अन्य किसी से सीधे संपर्क में आकर मिलने से पूरी तरह परहेज करें. यदि मिलना जरूरी है तो एक मीटर के दूरी पर रहकर मुलाकात करें. बुजुर्गों से कहा गया है कि यदि वह घर में अकेले रह रहें हों तो अपने पड़ोसिंयों को इस बात की जानकारी जरूर दें ताकि समय समय पर आवश्यक वस्तुएं उनके दवारा उपलब्ध करायी जा सके. छोटे या बड़ी गैदरिंग जैसे बर्थ डे पार्टी, वैवाहिक समारोह या धार्मिक सभाओं में बिल्कुल हिस्सा नहीं लें. घर में रहने के दौरान खुद को घरेलू कामकाज में व्यस्त रख एक्टिव रहें. प्रतिदिन हल्के व्यायाम तथा योगा जरूर करें.. समय- समय पर नियमित रूप से 20 सेकेंड तक साबुन पानी से हाथ धोंये. विशेषकर खाना खाने से पहले व शौच के बाद हाथों को अच्छी तरह धोने का खास ख्याल रखें. खांसते व छींकते समय टिश्यू पेपर या रूमाल का इस्तेमाल करें. इस्तेमाल टश्यू पेपर को डस्टबिन में डालें तथा तथा रूमाल व हाथ को समय समय पर धोते रहें. अपना पौष्टिक खानपान सुनिश्चित करें. घरों में तैयार किया ताजा भोजन ही खायें. अधिक से अधिक पानी पीकर खुद को हाइड्रेट रखें तथा मौसमी फलों के जूस पीकर अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनायें. चिकित्सकों दवारा बताये गये दवाओं का नियमित और समय पर सेवन करें. अपने स्वास्थ्य की निगरानी करते रहें. यदि आपको बुखार, कफ या सांस लेने में तकलीफ या स्वास्थ्य से जुड़ी अन्य समस्याएं होती हैं तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क कर चिकित्सीय परामर्श प्राप्त करें. आपके साथ नहीं रहने वाले परिवार के सदस्य, रिश्तेदार व दोस्तों आदि से फोन कॉल या वीडियो काॅफ्रेंसिंग से बात करें और जरूरत पड़ने पर मदद प्राप्त करें.

सर्दी खांसी वाले लोगों के संपर्क में नहीं आयें

एडवाइजरी में कहा गया है कि कोविड 19 लक्षण वाले लोगों के संपर्क में आने से पूरी तरह बचें. ऐसे समय में हर उस व्यक्ति से दूर रहें जिसे सर्दी, खांसी, बुखार या सांस लेने में तकलीफ है. घर के बाहर किसी से भी हाथ व गले नहीं मिलायें. पार्क, बाजार या धार्मिक सभा में नहीं जायें. नंगे हाथों से नाक साफ नहीं करें. ना ही उन्हें अपने मुंह पर रख कर खांसे. गंदे हाथों से अपने आंख, चेहरा व नाक को बिल्कुल नही छूयें.