छपरा: सारण एसपी ने किया औचक निरीक्षण, दिए दिशा-निर्देश

0
  • भ्रष्टाचार में लिप्त पाएं जाने पर अपराधी की तरह व्यवहार करते हुए जेल भेजा जाएंगा: एसपी सारण
  • जल्द ही थाना क्षेत्र में पुलिस के अतिरिक्त सुपर पेट्रोलिंग बल का गठन कर व्यस्त इलाकों और हाइवे सड़क पर गश्त लगाई जाएगी

छपरा: सारण के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने मशरक थाने का औचक निरीक्षण किया। थाना परिसर में आते ही उन्होंने थाना परिसर का घूम घूम कर मुआयना किया। मौके पर अंचल थाना पुलिस इंस्पेक्टर उदय प्रताप सिंह, थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा समेत सभी पुलिस कर्मी मौजूद रहें। उस दौरान उन्होंने कहा कि मढ़ौरा अनुमंडल के सभी थानों का बेहतर पुलिस सेवा देने के निरीक्षण किया जा रहा है जिसमें उनके द्वारा थानों के बेहतर रखरखाव के निर्देश दिए गए थे।जो भी दिशानिर्देश दिए गए हैं उन पर अनुपालन हो रहा है कि नही उसका भी निरीक्षण किया जा रहा है। उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों को हड़काते हुए कहा कि भ्रष्टाचार किसी भी परिस्थिति में बर्दाश्त नही की जाएंगी यदि कोई भ्रष्टाचार में लिप्त पाया गया तो उसके साथ अपराधी की तरह व्यवहार करतें हुए जेल भेज दिया जाएगा। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि पूरे जिले में अपराध नियंत्रण के लिए पुलिस में आमूल परिवर्तन कर बेहतर पुलिसिंग का काम किया जा रहा है।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

छपरा सदर समेत सभी थाना क्षेत्र में थाना पुलिस के अतिरिक्त सुपर पेट्रोलिंग बल का गठन कर व्यस्त इलाकों और हाइवे सड़क पर गश्त लगाई जाएगी जिसमें पुलिस के अधिकारी रहेंगे।परिसर में मौजूद सभी पुलिस पदाधिकारी को चेतावनी देते हुए कहा कि आप सभी अपने कर्तव्यों के प्रति जागरूक रहें थाना में आने वाले आगंतुक से मित्रवत व्यवहार करें और उनकी समस्याओं का समाधान करने की कोशिश करें। लंबित कांडों का समीक्षा कर पुलिस पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश दिए।लंबित कांडों में जैसे हत्या,लूट और डकैती जैसे जघन्य कांडों के निष्पादन में तेजी लाई जाए। शराबबंदी के तहत लागातार छापेमारी जारी रखने, शराब कारोबारी के खिलाफ विशेष अभियान चलाने का भी निर्देश दिया।हाइवे सड़कों पर आम लोगों को आवागमन में परेशानी नहीं हो और कही भी जाम की स्थिति नहीं बने इस पर भी ध्यान देने के लिए कहा।