कोविड-19 वैक्सीनेशन: टीका लेने के बाद दूसरे के लिए प्रेरणा का स्रोत बने रहे कोरोना योद्धा

0
  • वैक्सीनेशन के लिए दूसरे को भी कर रहे हैं प्रेरित
  • अब तक जिले में टीकाकरण के बाद किसी में नहीं दिखा कोई दुष्प्रभाव
  • पूरी तरह से सुरक्षित व असरदार है कोविड-19 का टीका

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ जिले में टीकाकरण अभियान के प्रथम चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जा रहा है। जिले के सभी टीकाकरण स्थलों पर उत्साह के साथ कर्मी टीका लेने के लिए पहुंच रहे है। टीककारण के पूर्व कोविन पोर्टल पर पंजीकृत लाभार्थियों को मोबाइल एसएमएस के माध्यम से सूचना दी जा रही है कि आपको आज टीका लगाया जायेगा। जिसमें तारिख व स्थान के साथ मैसेज भेजा जा रहा है। जिसके बाद स्वास्थ्यकर्मी अपने-अपने टीकाकरण स्थल पर पहुंच कर वैक्सीनेशन करा रहे हैं । वैक्सीन लेने के बाद सभी कर्मियों को 30 मिनट तक निगरानी में रखा जा रहा है। सभी टीकाकरण स्थलों पर पर्याप्त मात्रा में एनफ्लासिक्स तथा स्वास्थ्य संस्थानों पर एईएफआई किट की उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है। कोविड-19 के टीकाकरण के पश्चात होने वाले किसी प्रकार की एईएफआई घटना की प्रविष्टि को-विन पोर्टल पर अपलोड की जाएगी। सभी टीकाकरण केंद्रों पर लाभार्थियों को आब्जर्वेशन रूम में बिठाया गया। वैक्सीनेशन के बाद उसका कोई साइड इफेक्ट तो नहीं हो रहा। लाभार्थी को कैसा महसूस हो रहा। चक्कर या उल्टी आदि की शिकायत तो नहीं आदि का अवलोकन करने के लिए उन्हें केंद्र के आब्जर्वेशन केंद्र पर रखा गया । उन्हें आधा घंटा देखने के बाद घर जाने दिया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

corona yodha

अब तक किसी नहीं दिखा कोई दुष्प्रभाव

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने कहा कि जिले में अब जितने भी स्वास्थ्य कर्मियों ने कोविड-19 का टीका लगवाया है, उसमें किसी में भी किसी तरह का कोई दुष्प्रभाव सामने नहीं आया है। इससे टीकाकरण के प्रति कर्मियों में उत्साह है। वैज्ञानिकों व संस्थानों पर पूरी तरह से भरोसा करते हुए अपना वैक्सीनेशन करा रहे हैं। कोविड का टीका पूरी तरह से सुरक्षित और असरदार है। अपने आपको और अपने प्रियजनों व सहकर्मियों को सुरक्षित रखने के लिए कोविड-19 का टीका जरूर लगवायें।

कुछ भी साइड इफेक्ट नहीं महसूस हुआ

आरबीएसके के जिला समन्वयक डॉ. अमरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि टीका लगवाने के पहले मैंने रजिस्ट्रेशन कराया, सरकारी निर्देशों का पालन किया । सामान्य स्वास्थ्य स्थिति होने पर मुझे स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा कोविड का टीका लगाया गया । टीका लगाने के पूर्व जानकारी दी गई थी कि इस टीके को लगाये जाने पर मांस में दर्द होगा, बुखार हो सकता है । परन्तु मैं 30 मिनट तक ऑब्जरवेशन में रहा मुझे कुछ भी साइड इफेक्ट नहीं महसूस हुआ।

सरकार के प्रयासों की सराहना करनी चाहिए

कोविड का टीका लेने के बाद सदर अस्पताल के कंप्यूटर ऑपरेटर दीपांशु जायसवाल ने कहा कि कोविड वैकसीन से घबराने की जरूरत नहीं है। हम सबको सरकार के प्रयासों की सराहना करनी चाहिए और वैक्सीन लेनी चाहिए।

प्रत्येक सत्र पर 100 कर्मियों को वैक्सीनेशन का लक्ष्य

जिले के प्रत्येक सत्रों पर कोविन पोर्टल पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों की सूची में से सौ-सौ कर्मियों की सूची तैयार की गयी थी। प्रत्येक सत्र पर 100 लोगों को टीकाकरण करने का लक्षय निर्धारित किया गया है। सभी टीकाकरण सत्र स्थलों पर प्रचार- प्रसार के लिए बैनर- पोस्टर का प्रदर्शन एवं साज-सज्जा सामग्रियों का समुचित प्रबंध किया गया है। टीकाकरण केंद्र पर समुचित मात्रा में हैंड सैनिटाइजर , मास्क आदि की व्यवस्था रखी गयी है। ताकि लाभार्थियों एवं कर्मियों के द्वारा हैंड सैनिटाइजर का उपयोग किया जा सके। साथ ही कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए साफ- सफाई का पूर्ण रूप ध्यान देते हुए पूर्व में निर्गत प्रोटोकॉल का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित किया जा रहा है।

पूर्ण सुरक्षा के लिए टीकाकरण के बाद भी पांच नियमों का करें पालन

  • मास्क सही से पहनें
  • हाथ को नियमित रूप से धोएं
  • 2 गज की दूरी बनाएं रखें
  • लक्षण होने पर तुरंत खुद को दूसरों से अलग रखें
  • लक्षण होने पर तुरंत जांच कराएं