छपरा : एस एच-90 और 73 पर मशरक में लौंडा नाच के लड़के को महिला बनाकर ट्रक से रूपये और तेलकटवा गिरोह का भंडाफोड़

0

पिछले थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा ने मामले में की थी कारवाई और वर्तमान थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने मुजफ्फरपुर पुलिस के सहयोग से किया भंडाफोड़

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

छपरा : जिले से गुजर रही एस एच-73 और 90 पर रातों में चार चक्का वाहन से सवार अज्ञात अपराधियों द्वारा हथियार के बल पर ट्रको से डीजल चोरी और रूपये लूटने वाले गिरोह का मुजफ्फरपुर जिले में पर्दाफाश किया गया है। जिसके बारे में मुजफ्फरपुर एसएसपी जयकांत ने अपने कार्यालय में दिया। मामला है कि मशरक थाना क्षेत्र से गुजर रही एस एच-73 और 90 पर बीते महीने पहले दो चार चक्का वाहन में हथियार के साथ सवार अपराधियों ने डीजल चोरी और चालकों से रुपये छीनने का मामला सामने आने पर बंगरा गांव निवासी आशीर्वाद पटेल समेत तीन दुकानदार ने थाना पुलिस को आवेदन दिया।मामले में पिछले थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा ने दो विशेष टीम का गठन कर हाइवे पर रात्री में चैनपुर रेलवे ओवरब्रिज के पास ट्रक चालक से लूट-पाट करतें हुए कार सवार की घेराबंदी कर दी पर कार सवार अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग करतें हुए मशरक की तरफ भाग निकले थाना पुलिस ने थाना के सामने बैरियर लगाकर घेराबंदी कर दी जिससे अपराधी फिर से वापस बंगरा की तरफ भागने लगे जहां बंगरा पेट्रोल पंप के पास के दुकानदारों ने बीच सड़क पर ट्रक लगाकर घेराबंदी कर दी और तब तक दूसरी गश्ती दल ने घेराबंदी कर दी जिससे अपराधी सड़क किनारे कार लगाकर अंधेरे में चवर की तरफ भाग निकले।

मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने कार को जप्त कर लिया।वही रात्री में ही मढ़ौरा डीएसपी इंद्रजीत बैठा और पुलिस इंस्पेक्टर उदय प्रताप सिंह ने मामले में जांच-पड़ताल किया पर अपराधी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गए। थाना पुलिस ने मामले में जांच-पड़ताल के दौरान कार में डीजल भरने की मशीन और गैलेन और कार में डीजल भरने की पेट्रोल पंप की रसीद बरामद किया।जो मुजफ्फरपुर के पेट्रोल पंप की थी मामले में थाना पुलिस ने जांच-पड़ताल किया और मुजफ्फरपुर थाना पुलिस ने पहचान करते हुए गिरोह के सदस्य की पहचान करते हुए छापेमारी की जिसमें चिन्हित अपराधी को गिरफ्तार कर लिया गया।सभी अपराधी मुजफ्फरपुर जिले के पानापुर ओपी क्षेत्र के पानापुर चौक निवासी रणधीर भगत, साहेबगंज थाना क्षेत्र के राजवाड़ा गांव निवासी अशोक कुमार,रौशन कुमार, विकास कुमार, चुन्नू पासवान और साहेबगंज विशुनपुर पट्टी निवासी दिलीप उर्फ गुड़िया (नाच का लौंडा) के हैं। पूछताछ के दौरान सभी अपराधियों ने बताया कि वे संगठित गिरोह बना लिए थे जिसमें सभी हथियार से लैस होकर चार चक्का वाहन में सवार होकर विभिन्न लाइन होटलों पर वाहनों से तेल चोरी करतें थे साथ ही वाहनों के चालक को लूटते भी थे।

पूछताछ में दिलीप उर्फ गुड़िया ने बताया कि वह नाच में डांसर था उसी दौरान उसकी मुलाकात राजवाड़ा गांव निवासी चुन्नू पासवान से हुई और उससे प्रेम हो गया उसके बाद वह भी इस गिरोह में शामिल हो गया। गिरोह के एक सदस्य दिलीप उर्फ गुड़िया महिलाओं का लिबास पहनकर सड़कों पर निकल ट्रक को हाथ देकर रोकती थी फिर उसी दौरान उसके गिरोह के सदस्य उक्त वाहन को लूट लेते थे।इस गिरोह के सदस्य इतने क्रूर थें कि लूट की घटना का विरोध करने पर गोली मारने में नही हिचकते थें। गिरोह के सदस्य मुजफ्फरपुर के बरूराज, पूर्वी चंपारण के डुमरिया,सारण के मशरक, तरैया सहित अन्य थानों में भी कई लूट की घटनाओं को अजाम दे चुके हैं। गिरफ्तार अपराधियों के पास से 4 देशी हथियार,7 कारतूस,1 मोबाइल और 2 कार भी जप्त की गई है। सभी अपराधियों ने लूट में अपनी संलिप्तता स्वीकार किया।एस पी ने बताया कि गिरफ्तारी के समय दिलीप उर्फ गुड़िया महिला के लिबास में था। पूछताछ के बाद सभी गिरफ्तार अपराधियों को न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया।