जहरीली शराब कांड के मृतकों के परिजनों को पांच हजार की सहायता देना बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष को महंगा पड़ा, ग्रामीणों ने खदेड़ा और काटा बवाल

0

बेतिया: नौतन के दक्षिण तेल्लुआ पंचायत के वार्ड नंबर तीन में भारतीय जनता पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष सह बेतिया सासंद संजय जायसवाल को फजीहत का सामना करना पड़ा. वे जहरीली शराब से मरने वाले मृतक के परिजनों से मिलने के लिए दक्षिण तेल्लुआ के वार्ड नंबर तीन में पहुंचे थे और वटवृक्ष के नीचे बैठकर कार्यकर्ताओं के माध्यम से लिफाफे में पांच हजार रुपए की राशि रखकर मृतकों के परिजनों को दे रहे थेष

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

बेतिया में जब जहरीली शराब पीने से हुई मौत पर परिजनों से मिलने पहुंचे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल तो ग्रामीणों ने जमकर उनकी फजीहत कर दी। मृतकों के आश्रितों को पांच हजार देने से बौखलाये लोगों ने किया डॉ संजय जायसवाल का भारी विरोध कर दिया। बाद में खदेड़ भी दिया। भारी फजीहत का सामना करने के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और स्थानीय सांसद डॉ संजय जायसवालको बैरंग लौटना पडा।

दरअसल , नौतन के दक्षिण तेल्लुआ गांव में भारतीय जनता पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष व बेतिया सासंद संजय जायसवाल को भारी फजीहत का सामना करना पडा है। पिछले दिनों जहरीली शराब पीने से हुए सोलह लोगों की मौत के बाद मृतकों के परिजनों से मिलने पहुंचे थे संजय जायसवाल। डॉ संजय जायसवाल ने अपने कार्यकर्ताओ के माध्यम से लिफाफे में पांच हजार रुपये रखकर मृतकों के परिजनों को दे रहे थे। इस पर लोगों ने बवाल कर दिया। ग्रामीणों के भारी विरोध के बाद वहां से खुद को बचते-बचाते निकले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल। इस दौरान ग्रामीणों ने उनकी गाड़ी के सामने जमकर बवाल काटा।

वहीं मृतकों के परिजनों को मात्र पांच हजार रुपये दिये जाने पर भी लोगों में आक्रोश थे. लोगों का कहना था कि मौत की कीमत मात्र 5 हजार रुपये है. बता दें कि बेतिया के नौतन के दक्षिण तेल्लुआ में जहरीली शराब की वजह से 15 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं बिहार में अब तक जहरीली शराब की वजह से 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है….इस पर मीडिया के द्वारा सवाल पूछा गया तो कन्नी काटते हुए कहा कि सरकार इस विषय पर समीक्षा कर रही है. इसके बाद संजय जयसवाल चल दिये।