रेफर के दौरान जिंदगी की जंग हार गया गोली व चाकू के शिकार मोहम्मद जावेद

0
javed

पूरे जिले में सक्रिय हुए हैं शार्प शूटर

माथे व सीने में दाग रहे हैं गोली

कुंभकरणीय निंद्रा से कब तक जागेगी पुलिस?

परवेज़ अख्तर/सिवान:- इन दिनों जिले में गोली मारकर हत्या करने वाले शातिर अपराधी काफी सक्रिय दिख रहे हैं। आए दिन कहीं ना कहीं किसी निहत्थे इंसान को गोली मार हत्या कर दे रहे हैं। लगातार हो रही हत्याओं से पूरा सिवान दहशत के माहौल में जी रहा है। गोली मार हत्या करने वाले ऐसे शार्पशूटर अपराधी सक्रिय हैं जिनके शिकार से शायद कोई नहीं बच पा रहा है। सक्रिय अपराधकर्मी अधिकांश रूप से माथे व सीने में गोली दाग दे रहे हैं। जिससे शिकार व्यक्ति का बचना मुश्किल हो जा रहा है। बता दें कि जिले में सक्रिय शार्पशूटर अपराधी अधिकांश रूप से बाइक सवार होकर घटना को बेखौफ अंजाम दे रहे हैं। इसके बावजूद सिवान की पुलिस उन सक्रिय अपराधियों पर नकेल कसने में निष्क्रिय साबित हो रही है। पुलिस की निष्क्रियता से आम जनमानस दहशत के माहौल में जीने को मजबूर है। शाम के समय में सभ्य व संभ्रांत परिवार के लोग अपने-अपने घरों में दुबक जा रहे हैं। ताकि मेरे साथ कोई अप्रिय घटना घटित ना हो। उधर पुलिस के कुंभकरणीय निंद्रा से नहीं जागने पर आम जनमानस कई तरह की गंभीर आरोप लगा रहे हैं लेकिन आम जनमानस के आरोपों का कोई असर इस सुशासन सरकार की पुलिस पर नहीं है बस पुलिस की एक रटी-रटाई जवाब “अपराधी कितना बड़ा क्यों न हो बख्शा नहीं जाएगा” उक्त पंक्ति सुन सुन कर आम जनमानस के कान बहरे हो गए हैं। और जब घटना घटित हो जाती है तो पुलिस द्वारा सिर्फ रटी रटाई जवाब में कहा जाता है कि अनुसंधान जारी है। अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। उसे हर हालत में गिरफ्तार कर लिया जाएगा बहर हाल चाहे जो हो इन दिनों सिवान में अपराध का ग्राफ दिन पर दिन बढ़ रहा है अपराध को रोकने के लिए पुलिस काफी निष्क्रिय दिख रही है इसी कड़ी में गुरुवार की रात शहर में सक्रिय अपराधियों ने शहर के पुरानी किला पोखरा निवासी स्वर्गीय भोला मियां के पुत्र मोहम्मद जावेद को गोली व चाकू से वार कर मौत के घाट उतार दिया गया। बतादें कि गोली व चाकू के शिकार हुए पुरानी किला पोखरा मोहल्ला निवासी मोहम्मद जावेद सिवान सदर अस्पताल से रेफर के दौरान जिंदगी की जंग हार गया। बतादें कि गुरुवार की रात करीब 8:30 बजे पुरानी किला पोखरा निवासी स्वर्गीय भोला मियां के पुत्र मोहम्मद जावेद (उम्र 30 वर्ष ) को अपराधियों ने गोली व चाकू मार गंभीर रूप से घायल कर दिया था। आनन-फानन में मोहल्ला वासियों ने उसे उपचार हेतु सदर अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अहमद अली ने प्रथम उपचार के बाद अभी पटना रेफर की प्रक्रिया कर ही रहे थे कि वह जिंदगी की जंग हार गया।उधर घटना की सूचना मिलते ही नगर थाना की पुलिस सदर अस्पताल में पहुंची।और मौजूद मोहल्ला के लोगों से घटना की जानकारी ली।लेकिन मोहल्ला वासियों द्वारा घटना के बारे में सही तरह से जानकारी पुलिस को नहीं दे पाये। क्योंकि घटना क्यों और कैसे घटित हुई है। यह किसी ने नही देखा है।मोहल्ला वासियों द्वारा सिर्फ इतना देखा गया कि घायल अवस्था में दौड़ते-चिल्लाते विपरीत दिशा की ओर से मोहम्मद जावेद भागते हुए आया।और मजार के समीप गिर पड़ा।तथा गिरते ही वह बेहोश हो गया। चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अहमद अली के अनुसार घायल मोहम्मद जावेद के शरीर के कई हिस्सों में चाकू व गोली के निशान पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया में यह अनुमान है कि अंदरूनी गहरे जख्म व अधिक रक्त स्राव होने का कारण उसकी हालत गम्भीर थी। जिसके कारण उसकी मौत हो गई। उधर घटना के बाद वरीय पुलिस पदाधिकारी दल-बल के साथ सदर अस्पताल पहुँच मामले की तहकीकात में जुट गए है। तथा पुलिस गोपनीय रूप से परिजनों का बयान ले रही है।ताकि आगे की कारवाई की जा सके।वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में एक पुलिस टीम का गठन कर शहर के कई हिस्सों में छापेमारी की जा रही है। लेकिन पुलिस को जावेद हत्याकांड में कोई अहम सुराग अब तक नहीं मिले हैं। नगर थाना की पुलिस ने सदर अस्पताल के बेड से शव को बरामद कर पोस्टमार्टम की प्रक्रिया शुरू कर दी है लेकिन रात होने के कारण मृतक मोहम्मद जावेद का पोस्टमार्टम डीएम के आदेश पर चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अहमद अली करेंगे उधर इस घटना के बारे में नगर थाना की पुलिस कुछ भी बताने से परहेज कर रही है। मोहम्मद जावेद की हत्या के बाद पुरानी किला पोखरा मोहल्ला में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। परिजनों की हृदय विदारक चीत्कार से सब का कलेजा पिघल जा रहा है खबर लिखे जाने तक हत्याकांड में सही जानकारी नहीं मिल पा रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
vigyapann
ads