छपरा : कोविड-19 टीकाकरण अभियान में जीविका दीदी करेंगी सहयोग, 45 से अधिक उम्र के सभी नागरिकों को लगेगी वैक्सीन

0
  • अधिक से अधिक लाभार्थियों को प्रोत्साहित करेंगी जीविका दीदी
  • जीविका दीदी का भी किया जायेगा टीकाकरण
  • प्रत्येक प्रखंड में प्रतिदिन 150 जीविका दीदियों के टीकाकरण का लक्ष्य

छपरा : कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचाव के लिए 1 मार्च से जिले में आम नागरिक जिनकी उम्र 60 वर्ष पूर्ण हो चुकी है या उससे अधिक हो तथा 45 से 59 वर्ष के वैसे नागरिक जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं उनका कोविड-19 का टीकाकरण किया जा रहा है। इसी क्रम में स्वास्थ्य विभाग ने 1 अप्रैल से 45 वर्ष या इससे अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों का टीकाकरण करने का निर्णय लिया है। इस अभियान में जीविका दीदियों के द्वारा सहयोग किया जाएगा। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। पत्र के माध्यम से 1 अप्रैल से 45 वर्ष या उससे अधिक के सभी नागरिकों का टीकाकरण कराए जाने को लेकर आवश्यक तैयारी पूरी करने का निर्देश दिया गया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

टीकाकरण के लिए जीविका दीदी करेंगी जागरूक:

सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने बताया जीविका दीदी के माध्यम से 45 वर्ष या इससे अधिक आयु वर्ग के सभी सेल्फ हेल्प ग्रुप के अंतर्गत जीविका समूह के सदस्यों तथा उनके आसपास के सभी योग्य लाभार्थियों को प्रोत्साहित कर कोविड-19 का टीकाकरण करने के लिए समयबद्ध तरीके से टीकाकरण कार्य पूर्ण किया जाएगा। टीकाकरण के लिए प्रतिदिन प्रत्येक प्रखंड में 150 पात्र जीविका दीदियों के टीकाकरण का भी लक्ष्य रखा गया है। 45 वर्ष या इससे अधिक उम्र के जीविका दीदियों का भी टीकाकरण किया जाएगा। इसको लेकर प्रत्येक प्रखंडों में लक्ष्य निर्धारित किया गया है तथा आवश्यक तैयारी पूरा करने के लिए निर्देश दिया गया है।

अधिक से अधिक व्यक्तियों का टीकाकरण करने के लिए विभाग प्रयासरत:

सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने कहा अधिक से अधिक पात्र लाभार्थियों को कोविड-19 का टीकाकरण करने के लिए विभाग प्रयासरत है और इसको लेकर लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है। सिविल सर्जन ने बताया अधिक से अधिक लक्ष्य को हासिल करने के लिए टीकाकरण केंद्रों की संख्या में बढ़ोतरी की गई है और सभी केंद्रों पर आवश्यक सुविधाओं को व्यवस्थित करने का निर्देश दिया गया है।

कोरोना के खिलाफ एकमात्र कवच वैक्सीन:

सिविल सर्जन ने कहा कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज 4 से 8 सप्ताह के बीच में ली जा सकती है। उन्होंने कहा कि हम सभी लोगों से अपील करते हैं कि वे कोरोना वैक्सीन के लिए अपना पंजीकरण करा लें क्योंकि यह कोरोना के खिलाफ एकमात्र कवच है। कोरोना से लड़ाई में ढिलाई नहीं बरती जा सकती है। वैक्सीन लगाने के लिए 45 साल से ऊपर के व्यक्ति को डॉक्टर का सर्टिफिकेट लाने की जरूरत नहीं है। 45 से ऊपर उम्र है, तो उसे मिलेगी।

टीका लेने के बाद दुष्प्रभावों के मामले में यहां संपर्क करें:

कोविड-19 का टीका लेने के बाद यदि आप दुष्प्रभाव अनुभव करते हैं तो आप सूचना और मार्गदर्शन के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन 1075 पर कॉल कर सकते हैं। आप टीकाकरण केंद्र से भी संपर्क कर सकते हैं जहां पर आपने अपना टीकाकरण कराया है।

लाभार्थियों को मिलेगा डिजिटल प्रमाण-पत्र:

टीकाकरण प्रमाण पत्र टीकाकरण का एक सत्यापित प्रमाण है जिसे आप उसको स्थापित करने के लिए उपयोग कर सकते हैं। टीकाकरण केंद्र आपके प्रमाण पत्र को बनाने और प्रदान करने के लिए जिम्मेदार है। टीकाकरण के दोनों डोज पूरा होने पर आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक लिंक मैसेज किया जायेगा। जहां से अपना ई- प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं ।