सिवान: न्यू सीवान शुगर मिल से सटे रेल ने अपनी जमीन की मापी कराई

0
Siwan Online banner
  • बियाडा द्वारा 15 से 20 फीट रेल की जमीन का किया गया है अतिक्रमण
  • मापी के दौरान नहीं उपस्थित हुए बियाडा के अधिकारी

परवेज अख्तर/सिवान: शहर के रामनगर रेलवे लाइन के समीप स्थित बिहार स्टेट शुगर मिल कॉरपोरेशन की चीनी न्यू सीवान की जमीन का बियाडा द्वारा कराए जा रहे घेराबंदी कार्य का रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग के सहायक इंजीनियर एवं आई ओ डब्ल्यू निरीक्षण किया. इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों ने जब रेल की जमीन की मापी कराई तो पता चला कि बियाडा द्वारा रेल लाइन से सटे जो पिलर लगाए गए हैं, वे रेल की जमीन में 15 से 20 फीट अंदर हैं. इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों ने तत्काल घेराबंदी कर रहे एजेंसी के कर्मचारियों को तत्काल घेराबंदी कार्य रोकते हुए, उनके अधिकारियों को उपस्थित होने को कहा है. रेल अधिकारियों ने कहा कि इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दे दी गई है. बियाडा के अधिकारी स्वयं पिलर नहीं हटवाते हैं तो रेलवे का इंजीनियरिंग विभाग रेलवे सुरक्षा बल की मदद से रेल की जमीन से कब्जे को हटाएगा.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

रेलवे सुरक्षा बल के निरीक्षक अजय कुमार यादव सूचना मिलने पर 18 अगस्त को बियाडा द्वारा लगाए जा रहे चीनी मिल के जमीन के घेराबंदी कार्य का निरीक्षण किया तथा पाया कि रेल की जमीन पर कब्जा किया गया है. उन्होंने तत्काल घेराबंदी का कार्य रोकने का निर्देश देते हुए इसकी सूचना वेल के इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों को दी. रेलवे सुरक्षा बल द्वारा बियाडा के अधिकारियों को भी आज बुलाया गया था. लेकिन आज कोई भी पदाधिकारी उपस्थित नहीं हुआ.बियाडा के अधिकारियों ने वेल के इंजीनियर विभाग को सूचना दिए बिना जमीन की माप करा कर पिलर को लगा लिया. स्थानीय लोगोंं की शिकायत है कि चीनी मिल की जमीन के घेराबंदी में दहा नदी के जमीन का भी अतिक्रमण कर लिया है.जमीन अतिक्रमण को लेकर शुक्रवार को धरना प्रदर्शन का आयोजन राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन के तत्वावधान में किया गया. शुगर मिल की जमीन का बियाडा द्वारा नदी के तट पर भी बाउंड्री निर्माण के लिए पीलर बनाया गया है.

जबकि वहां पर छठ घाट है. दाहा नदी की जमीन पर कब्जा करने के खिलाफ धरना दिया गया. धरना पकवालिया पुल के पास दिया गया. नदी बचाओ,और अधिक्रमण मुक्ति आंदोलन के लिये धरना देते हुए गदाधर बिद्रोही ने कहा योजना योजनाबद्ध ढंग से नदी के जमीन को अतिक्रमण किया जा रहा है. इसका विरोध समाज के हर व्यक्ति को करना चाहिये. गांव के लोगों का कहना है कि अगर जमीन को घेराबन्दी कर लिया तो हमारा निकास ही बन्द हो जायेगा. रेलवे इंजीनियरिंग विभाग के आई ओ डब्लू उमेश कुमार सिंह ने बताया कि हम लोगों ने आज जमीन की मापी कराई है. 25 से लेकर 20 फीट रेल की जमीन का बियाडा द्वारा अतिक्रमण कर पिलर लगाया गया है. इसकी सूचना हम लोगों ने वहीं अधिकारियों को दे दिया है. निर्देश मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी.